उत्तर प्रदेश

आगरा में बच्‍चों के टंकी के पास हाथ-पैर धोने पर बवाल के बाद पथराव व आगजनी, फायरिंग में महिला घायल

आगरा। लोहामंडी थाना क्षेत्र के टीला गोकुलपुरा में गुरुवार रात को बवाल हो गया। पानी की टंकी पर हाथ-पैर धोते बच्चों को पीटने पर वाल्मीकि और प्रजापति समाज के लोग आमने-सामने आ गए। आधा घंटे तक मारपीट और पथराव के बाद पार्षद पति के भाई की दुकान में आग लगा दी गई। फायरिंग भी की गई है। इस बलवा में गोली लगने से एक महिला घायल हो गई। मारपीट में सफाई मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष भुल्ले नरवार और उनका बेटा घायल हो गए। इस दो समाज के संघर्ष की जानकारी होने पर 4 थानों का पुलिस फोर्स पहुंची तो बलवाई भाग गए। पुलिस देर रात आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश देती रही। 6-7 लोगों को पुलिस ने पकड़ा तो लोगों ने हंगामा किया। बवाल में 6 लोग घायल हुए हैं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव, आगजनी और फायरिंग के आरोप लगाए हैं।

गोकुलपुरा टीला के रहने वाले चिंकी नरवार ने बताया कि क्षेत्र में पार्षद निधि से पानी की टंकी लगी है। गुरुवार शाम 7:30 बजे टंकी पर वाल्मीकि समाज के 10-12 साल के 2-3 बच्चे हाथ-पैर धो रहे थे। टंकी के सामने ही पार्षद पति राजेश प्रजापति के भाई वीरेंद्र की परचूनी की दुकान है। आरोप है कि वीरेंद्र ने पानी फैलाने के लिए मना किया और बच्चों को पीटकर भगा दिया। जातिसूचक शब्द भी बोले। बच्चे रोते हुए अपने घर पर पहुंचे। इस पर समाज के लोगों ने पड़ोस की बस्ती में रहने वाले सफाई मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष भुल्ले नरवार को जानकारी दी। वह अपने बेटे बल्लू सहित अन्य लोगों के साथ वीरेंद्र प्रजापति की दुकान पर आए। इसी दौरान दोनों समाज के लोग जुट गए।

बताया गया है कि तमंचे, लाठी-डंडे और फरसे से लैस लोगों ने गाली गलौज के बाद मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद पथराव हो गया। दोनों तरफ से ईंट-पत्थर फेंके जाने लगे। इससे अफरातफरी मच गई। कुछ लोगों ने वीरेंद्र की दुकान के बाहर रखे सामान में आग लगा दी। एक स्कूटी को नाले में फेंक दिया। चंद कदम की दूरी पर पुलिस चौकी से फोर्स पहुंचा। मगर, लोग नहीं माने। आधा घंटे तक बवाल होता रहा। फायरिंग भी की गई। सूचना पर आसपास के सर्किल के थानों की फोर्स पहुंच गई। इस पर बलवाई भाग गए।

फायरिंग में प्रजापति समाज की लक्ष्मी देवी के सीधे हाथ की कोहनी में गोली लगने की बात कही जा रही है। इस पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। राजेश प्रजापति पक्ष का कहना है कि उनसे बल्लू ने मारपीट और पथराव किया गया। उनके घरों के कैमरे तक तोड़ दिए गए। फायरिंग की गई। उधर, घायल भुल्ले और बल्लू ने थाने पहुंचकर घटना की जानकारी दी। बल्लू का कहना है कि फरसे और लाठियों से हमला किया गया। फरसा मारे जाने से उसके सिर में चोट लगी है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

टीला गोकुलपुरा में एक तरफ वाल्मीकि समाज तो दूसरी तरफ प्रजापति समाज के लोगों के घर बने हुए हैं। जिस समय बवाल हुआ, उस समय लोग घरों के बाहर ही बैठे हुए थे। बवाल होता देखकर लोग घरों में कैद हो गए। वहीं पथराव से नाले के पास की गलियां ईंट और पत्थर से पट गईं। पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए रात में ही दबिश देना शुरू कर दिया था। दोनों पक्ष के लोगों को पकड़कर ले जाने लगी। इस पर महिलाओं ने हंगामा कर दिया। पुलिस के सामने एक-दूसरे पर ही आरोप लगाने लगीं। पुलिस जीप के आगे बैठ गईं। इस पर पुलिस ने किसी तरह लोगों को शांत कर दिया।

घटना की जानकारी पर लोहामंडी थाना की फोर्स पहुंची थी। बाद में डीसीपी सिटी सूरज राय, एसीपी लोहामंडी मयंक तिवारी पहुंच गए। बाद में जगदीशपुरा, शाहगंज, हरीपर्वत थाना की फोर्स पहुंच गई। पूरा इलाका पुलिस छावनी बना दिया गया। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि टीला गोकलपुरा में बच्चों को लेकर विवाद हुआ था। मारपीट के बाद पथराव किया गया। एक दुकान के बाहर रखे गत्ते में आग लगा दी गई थी। फायरिंग का भी आरोप लगाया है। मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। इलाके में पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button