ताजा ख़बरेंमहाराष्ट्रराज्य

जीका वायरस से संक्रमित मिली सात साल की एक लड़की , पालघर में मिला महाराष्ट्र का दूसरा मामला

संजय सिंह ठाकुर / पालघर : पालघर जिले में एक सात साल की बच्ची जीका वायरस ( Zika virus ) संक्रमित पाई गई है. इससे पहले जुलाई 2021 में पुणे में जीका वायरस का पहला मरीज मिला था. पालघर जिला परिषद अध्यक्ष वैदेही वाढन के मुताबिक संक्रमित बच्ची पालघर जिले के झाई के आदिवासी आश्रम स्कूल ( Jhai Adivasi Ashram School ) की रहने वाली है. डॉक्टर्स की निगरानी में दहानू के कॉटेज अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है. साल 2021 में पुणे में पहला मामला पाया गया था. एक साल बाद अब दूसरा मामला मिला है.

 जीका वायरस मच्छरों से फैलने वाली खतरनाक बीमारी है. इसके लिए वैक्सीन पर काम शुरू हो गया है. इस बीमारी की वैक्सीन का इंसानों पर दूसरे चरण का ट्रायल कंपनी शुरू करने जा रही है.

केरल में मिला था जीका वायरस का पहला केस…..

बता दें कि 9 जुलाई 2021 को केरल में जीका वायरस का पहला मामला सामने आया था. तिरुवनंतपुरम के पास प्रसाल्ला की रहने वाली 24 साल की एक प्रेग्नेंट महिला में संक्रमण पाया गया था. उनके सैंपल को टेस्ट के लिए पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया था. उस समय 19 सैंपल्स में से 13 में जीका वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इसके बाद कई अन्य राज्यों में भी जीका वायरस संक्रमण पाए जाने से हड़कंप मच गया था.

जीका वायरस संक्रमण के लक्षण…..

साल 2021 में पुणे में जीका वायरस की पहली मरीज मिली थी. पुरंदर तहसील में की एक 50 साल की महिला में वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. जीका वायरस मच्छरों से फैलता है. यह बीमारी ज्यादातर एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होती है. यही मच्छर डेंगू और चिकनगुनिया भी फैलाता है. जीका वायरस संक्रमण के लक्षण बुखार, हाथ-पैरों में दर्द, त्वचा पर निशान, कंजक्टिवाइटिस यानी आंख आने के होते हैं.

आगे पढ़े – पालघर में स्वाइन फ्लू की दस्तक, 22 बच्चें मिले संक्रमित, एक लड़की की मौत

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!